वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में रखें इन बातों का ध्यान, चमक उठेगी किस्मत

अध्यात्म

वास्तुशास्त्र में मनुष्य की तरक्की और स्वास्थ्य से जुड़ी कई बातें बताई गई हैं। जिनका ध्यान रखकर या अपनाकर अपनी किस्मत को मजबूत बनाया जा सकता है और हर समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। वास्तुशास्त्र के अनुसार घर बनाते हुए या उसके अंदर कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए, जिससे आपकी किस्मत चमक उठेगी।

1.    घर के किसी कमरे या कोने में अंधेरा नहीं रखना चाहिए। क्योंकि इससे घर में नकारात्मकता आती है और घर के सदस्यों में निराशा बढ़ती है। इसलिए घर ऐसा बनाए कि हर कोने में अच्छी तरह रौशनी पहुंच सके।

2.     घर में टूटा आइना नहीं रखना चाहिए। क्योंकि टूटा आइना नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करता है। साथ ही ये दुर्भाग्य को भी आमंत्रित करता है।

3.     घर में हमेशा साफ-सफाई रखें। इससे सकारात्मक ऊर्जा आती है और घर के सदस्यों का मन विकास के कार्यों में लगता है।

4. खाने के कमरे में आईने को लगाने की सलाह दी जाती है। क्योंकि उससे सकारात्मकता आकर्षित      होती है और इसे खाद्य तथा संपत्ती के दोहरीकरण का प्रतिक माना जाता है।

                       

बेहद शुभ माना जाता है घर में बांसुरी रखना

बांसुरी श्री कृष्ण का प्रिय वाद्य यंत्र है, इसे शांति और शुभता का भी प्रतीक माना जाता है साथ ही यह प्राण वायु प्रदान करने मे मददगार साबित हो सकती हैं। इसलिए इसे वास्तु दोष निवारक भी कहा गया है। फेंगशुई और हमारे शास्त्रों में शुभ वस्तुओं में बाँसुरी का अत्यधिक महत्व है।

बांसुरी इसलिए है शुभ

1. भवन में जहां कहीं भी दोष हो, वहां बांसुरी का उपयोग दोष दूर कर देता है। यहां ध्यान देना जरूरी है कि बांसुरी कभी भी सीधी नहीं लगानी चाहिए, बल्कि इसे हमेशा तिरछा लगाने से लाभ मिलता है। साथ ही बांसुरी का मुंह हमेशा नीचे रहना चाहिए।

2. अगर दांपत्य जीवन में तनाव या कलहपूर्ण वातावरण रहता हो, तो सिरहाने बांसुरी लेकर सोने से लाभ होता है।

3. इसी प्रकार यदि घर में कोई न कोई सदस्य हमेशा बीमार रहता हो, तो उसके कमरे के द्वार पर व उसके सिरहाने बांसुरी का उपयोग अवश्य करना चाहिए।

4. आपको यदि व्यापार व नौकरी में लगातार असफलता मिल रही हो या मेहनत के अनुसार फल न मिल रहा हो, तो अपने कमरे के द्वार पर दो बांसुरी लगाएं।

5. यदि घर में धन की आवक रुक गई हो या खर्च बढ़ गया हो, तो एक बांसुरी भगवान श्रीकृष्ण को अर्पित कर विधिवत पूजन करके उस बांसुरी को किसी शुभ दिन लाल वस्त्र में लपेटकर तिजोरी में रखें। आपकी समस्या का हल हो जाएगा।

6. यदि घर में आकस्मिक परेशानियां आ रही हों, तो ड्रा्रइंग रूम में क्रॉस के आकार में दो बांसुरियां लगाएं। परेशानी दूर हो जाएगी।

7. जिस घर में नित्य कुछ देर बांसुरी की ध्वनि गूंजती है, वहां सुख-शांति आती है और अशुभ शक्तियां घर से दूर हो जाती हैं।

8. यदि बेड या डाइनिंग टेबल के ठीक ऊपर बीम हो, तो रिश्तों में अलगाव आता है। इसलिए ऐसे बीम के दोनों तरफ के कोने वाले हिस्सों पर लाल धागे या रिबन से बांधकर दो बांसुरी लगानी चाहिए।

9. यदि किसी व्यक्ति की जन्मकुण्डली में शनि सातवें भाव में अशुभ स्थिति में होकर विवाह में देर करवा रहे हो, अथवा शनि की साढ़ेसती या ढैया चल रही हो, तो एक बांसुरी में चीनी या बूरा भरकर किसी निर्जन स्थान में दबा देना लाभदायक होता है इससे इस दोष से मुक्ति मिलती है।

काले रंग का है आपके घर का मेन गेट, तो होगा भारी नुकसान

वास्तुशास्त्र में घर में रखी चीजों की भी अपनी एक दिशा होती है। कहा जाता है कि हम जिस जगह घर का सामान रखते हैं, इसका असर हमारे जीवन पर पड़ता है। कुछ घरों में हमेशा किसी न किसी बात पर विवाद होता रहता है या उस घर में अक्सर लोग बीमार रहते हैं। इन सभी बातों का कारण वास्तु दोष भी हो सकते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसी ही बताने जा रहे हैं जिसे ध्यान रख इन वास्तु दोषों से बचा जा सकता है। ये हैं 5 ऐसे वास्तु दोष जिनकी वजह से घर में हमेशा अशांति बनी रहती है।

1.  वास्तुशास्त्र में कहा जाता है कि  घर का मेन गेट घर के अन्य दरवाजों से बड़ा होना चाहिए। अगर मेन गेट दूसरे दरवाजों से छोटा हो तो पैसों से जुड़ी परेशानियां हो सकती हैं।

2. सूर्योदय के समय घर की ख‌िड़क‌ियां खुली रखनी चाह‌िए। इससे पॉजिटिव एनर्जी घर में प्रवेश करती है।

3. घर का मुख्य दरवाजा काले रंग का नहीं होना चाह‌िए। वास्तु के अनुसार इससे परिवार के मुख‌िया को धोखा, अपमान और लगातार नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

4. घर के दरवाजों के पीछे किसी भी तरह के हथियार या डंडा आदि नहीं रखना चाहिए। इससे परिवार के सदस्यों के बीच विवाद भी स्थिति बन सकती है।

5. घर के किसी भी बेडरूम में वॉश बेस‌िन नहीं होना चाह‌िए। इससे लव लाइफ में परेशानियां आ सकती हैं। 

घर के दक्षिण दिशा से तुरंत हटा दें ये चीजें, वरना रहेगी पैसों की कमी

घर को बनाते समय वास्तु का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। हम जिस जगह घर का सामान रखते हैं, इसका असर हमारे जीवन पर पड़ता है। वास्तु शास्त्र में सबसे अशुभ दक्षिण दिशा को बताया गया है। कहा जाता है कि इस दिशा में कुछ चीजें रखने की गलती नहीं करनी चाहिए। ऐसा करने से घर के सदस्यों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। 

आइए जानते हैं उन वस्तुओं के बारे में:

घर की दक्षिण दिशा में कभी भी घड़ी न लगाएं, क्योंकि इसे काल की दिशा माना जाता है। कहते हैं जो घर में दक्षिण दिशा में घड़ी लगाते हैं उस घर का मुखिया बीमार रहने लगता है।

घर में दक्षिण दिशा में फ्रिज को भी नहीं रखना चाहिए, क्योंकि दक्षिण दिशा अग्नि तत्व का प्रतिनिधित्व करती है। 

कभी भी घर में दक्षिण दिशा में वह चीजें नहीं रखनी चाहिए जिनमें आप पैसे रखते हो ऐसा करने से धन कभी आपके पास नहीं रूकेगा। 

वहीं वास्तु के अनुसार घर की दक्षिण दिशा में ऐक्वेरियम रखने से घर में कभी पैसे की तंगी नहीं होती।

महिलाएं किचन में इन बातों का नहीं रखेगी ख्याल, तो घर में होंगे झगड़े 

वास्तु के अनुसार पति-पत्नी दोनों का भाग्य एक-दूसरे से जुड़ा होता है। ऐसे में के  द्वारा किए गए अच्छे-बुरे कामों का प्रभाव दूसरे के जीवन पर भी पड़ता है। वास्तुशास्त्र  में पत्नी के लिए कुछ खास नियम बताए गए हैं, जिनका ध्यान न रखने पर पति के भाग्य पर बुरा असर पड़ता है। साथ ही यदि पत्नी किचन में खाना पकाने में ये वास्तु की गलतियां करती है, तो पति के भाग्य पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है। 

किचन में इन बातों का रखें ख्याल

-किचन में दक्षिण-पश्चिम दिशा के कोने की ओर मुंह करके खाना बनाया जाए, तो घर की सुख-शांति के लिए उचित नहीं होता है। इसकी वजह से घर में लड़ाई-झगड़े होने की संभावना बनती है।

-पश्चिम दिशा की ओर मुंह करके खाना बनाना सामान्य फलदायक रहता है। ये दिशा खाना बनाने के लिए शुभ नहीं मानी जाती है।

-उत्तर दिशा की तरफ मुंह करके खाना बनाने पर हानि होने के योग बनते हैं।

-घर में सुख-शांति बनाएं रखने के लिए पूर्व दिशा की ओर मुंह करके खाना बनाना चाहिए। ये दिशा सबसे अच्छी मानी जाती है। घर में किचन किसी भी दिशा में हो, खाना बनाने वाले का मुंह पूर्व दिशा की ओर रहेगा तो बहुत शुभ रहता है।

-वास्तु और ज्योतिष के अनुसार बिना नहाए खाना नहीं बनाना चाहिए और ना ही खाना चाहिए। ऐसा करने से बीमारियां होने की संभावनाएं बढ़ सकती है। साथ ही, इस बात ध्यान न रखने पर घर में दोष बढ़ते हैं और पति-पत्नी को दुर्भाग्य का सामना करना पड़ सकता है।

-किचन में एक खिड़की पूर्व दिशा की ओर होगी तो बहुत अच्छा रहता है।

-रोज सुबह-शाम खाना खाने से पहले पहली रोटी गाय को खिलानी चाहिए। ये शुभ काम कई परेशानियों से बचा सकता है।

-वास्तु के अनुसार किचन के ठीक सामने बाथरूम नहीं होना चाहिए। अगर ऐसा है तो बाथरूम का दरवाजा हमेशा बंद रखें और उस पर एक पर्दा भी अवश्य लगाएं।

इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य व सटीक हैं तथा इन्हें अपनाने से अपेक्षित परिणाम मिलेगा। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें |

(सभार/सौजन्य से)

 

 


Comment






Total No. of Comments: