बिहार के सुपौल में भाई-भाभी को जिंदा जलाया, जमीन के लिए की वारदात

बिहार के सुपौल में चकला-निर्मली मुहल्ले में भाई के नाम की जमीन में हिस्सा नहीं मिलने पर रामलखन मुखिया ने अपने बड़े भाई रामचंद्र मुखिया (45) और भाभी सुनैना देवी (40) को जलाकर मार दिया। मंगलवार रात की इस घटना की जानकारी लोगों को बुधवार को मिली। पुलिस आरोपित को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। ग्रामीणों ने बताया कि रामचंद्र दो साल पूर्व लकवे का शिकार हो गए थे। इस कारण उनकी कमाई भी बंद हो गई थी। रामचंद्र अपने नाम की जमीन पर बसे हुए थे, लेकिन छोटा भाई उसमें हिस्सा देने की बात कह रहा था। बुधवार सुबह लोगों ने देखा कि रामचंद्र का घर जल रहा है और दोनों पति-पत्नी की मौत हो गई है। रामचंद्र को दो बेटियां हैं। मंगलवार को ही उनकी पत्नी सुनैना नैहर से आई थीं।

(साभार/सौजन्य से)



एलएसी पर तनाव कम करने के लिए भारत और चीन के बीच अब हर हफ्ते होगी बातचीत

पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर तनाव कम करने को लेकर तरीके खोजने के लिए अब भारत और चीन हर हफ्ते बातचीत करेंगे। सरकार से जुड़े सूत्रों ने बताया कि दोनों देशों के बीच इस बात पर सहमति बनी है कि पूर्वी लद्दाख में जारी तनाव के मसले पर चर्चा के लिए डब्ल्यूएमसीसी की बैठक हर हफ्ते होगी। उक्‍त वार्ता में भारतीय पक्ष से विदेश मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय, गृह मंत्रालय और सुरक्षा बलों समेत कई मंत्रालयों के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

(साभार/सौजन्य से)



CM नीतीश व Dy.CM सुशील मोदी की कोरोना जांच, बिहार में मचा हड़कम्‍प

बिहार विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायण सिंह के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद में सरकार से लेकर प्रशासन तक हड़कंप मच गया है। हाल के दिनों में उनके संपर्क में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार व उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी  सहित अनेक मंत्री व अधिकारी आए हैं। उनकी हिस्‍ट्री लेकर सबों की कोरोना जांच की जा रही है। इस कड़ी में मुख्‍यमंत्री व उपमुख्‍यमंत्री सहित कई मंत्रियों और अधिकारियों के भी सैंपल लिए गए हैं। देर रात मिली जानकारी के अनुसार मुख्‍यमंत्री की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

(साभार/सौजन्य से)



नेपाल पहुंचा टिड्डियों का झुंड, 1,100 हेक्टेयर से अधिक फसलों को पहुंचाया नुकसान

भारत के बाद नेपाल में भी टिड्डियों पहुंच गई हैं। पिछले हफ्ते भारत से नेपाल में प्रवेश करने वाले टिड्डियों के झुंडों ने हिमालयी देश में 1,100 हेक्टेयर से अधिक फसलों को नुकसान पहुंचाया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के हवाले से कृषि और पशुधन विकास मंत्रालय के तहत प्लांट क्वारेंटाइन एंड पेस्टिसाइड मैनेजमेंट सेंटर ने बताया कि टिड्डियों के झुंडों के हमले से 1,118 हेक्टेयर भूमि की फसल क्षति हुई है। 

(साभार/सौजन्य से)



CBSE बोर्ड परीक्षाएं रद्द, नोटिफिकेशन कल, ICSE बोर्ड सुनवाई कल सुबह 10.30 बजे

सुप्रीम कोर्ट में सीबीएसई बोर्ड की कक्षा 12 और कक्षा 10 की बची परीक्षाओं के आयोजन को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि CBSE ने 1 से 15 जुलाई को होने वाली 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है। मामले की सुनवाई जस्टिस ए.एम. खानविल्कर की अध्यक्षता वाली बेंच कर रही थी। सीबीएसई बोर्ड परीक्षा के मामले के बाद आईसीएसई बोर्ड परीक्षा की सुनवाई शुरु हुई, जिसे कल सुबह 10.30 बजे तक के लिए टाल दिया गया है।

 

(साभार/सौजन्य से)



BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली कल करेंगे IPL को लेकर बड़ा ऐलान, स्थगित होगी लीग

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी BCCI के अध्यक्ष सौरव गांगुली कल यानी सोमवार 13 अप्रैल को IPL को लेकर बड़ा ऐलान करेंगे। सौरव गांगुली को इसलिए भी आइपीएल के 13वें सीजन को लेकर मीडिया के सामने आना होगा, क्योंकि आइपीएल 2020 को पहले 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित किया गया था, लेकिन अब इसको और स्थगित किया जाएगा, जिसके बारे में बताने का ऐलान वे सोमवार को कर सकते हैं।

दरअसल, भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और मौजूदा बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली ने न्यू इंडियन एक्स्प्रेस को दिए इंटरव्यू में कहा है कि वे सोमवार को आइपीएल 2020 पर कोई अपडेट दे सकते हैं। क्या जल्द हीं आइपीएल को आगे बढ़ाने को लेकर ऐलान किया जा सकता है? इस सवाल के जवाब में सौरव गांगुली ने कहा, "मैं सोमवार को बीसीसीआइ के बाकी अधिकारियों से बात करने के बाद हीं कोई अपडेट आइपीएल को लेकर दे पाऊंगा।

(सभार/सौजन्य से)



शाहरुख़ ख़ान की बेटी सुहाना ने मॉम गौरी संग कुछ ऐसे उठाया बारिश का लुत्फ़, तस्वीर हुई वायरल

शाह रुख़ ख़ान की बेटी सुहाना ख़ान सोशल मीडिया की फेवरिट हैं। सुहाना की तस्वीरें अक्सर फैंस काफ़ी पसंद करते हैं। अब सुहाना की एक फोटो वायरल हो रही है, जिसमें वो अपनी मॉम गौरी ख़ान के साथ बारिश का लुत्फ़ उठाती नज़र आ रही हैं। सुहाना के फैन क्लब की ओर से तस्वीरें सोशल मीडिया में पोस्ट की गयी हैं। तस्वीरों में गौरी और सुहाना को मन्नत की बालकनी में बैठे हुए देखा जा सकता है। गौरी चाय पी रही हैं, जबकि सुहाना टेबल पर पैर रखे हुए उनकी ओर देख रही हैं। हालांकि यह साफ़ नहीं है कि तस्वीरें कब खींची गयी थीं, लेकिन उन्हें बारिश का लुत्फ़ उठाते हुए देखा जा सकता है। सुहाना ने पिछले महीने ही अपना 20वां जन्मदिन मनाया, जिसके फोटो भी उन्होंने शेयर की थीं।

(सभार/सौजन्य से)





भारत से टकराव में चीन को घाटा : भारत कारोबार खत्म कर चीन को करीब 5.7 लाख करोड़ रुपए का नुकसान पहुंचा सकता है, जबकि भारत को हो सकता है 1.37 लाख करोड़ का लॉस

भारत कारोबार खत्म कर चीन को करीब 75 अरब डॉलर (5.7 लाख करोड़ रुपए) का नुकसान पहुंचा सकता है। इसके लिए भारत को करीब 18 अरब डॉलर (करीब 1.37 लाख करोड़ रुपए) का नुकसान उठाना पड़ेगा। भारत चीन से जितना आयात करता है, उसकी तुलना में उसे काफी कम निर्यात करता है। कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (सीएआईटी) का कहना है कि चीन से आयात पर निर्भरता कम करके भारत का व्यापार में घाटा कम कर सकता है। सीएटी के मुताबिक, अगर ऐसा होता है तो चीन के फिनिश्ड गुड्स से करीब एक लाख करोड़ रुपए का आयात घाटा दिसंबर 2021 तक बच सकता है।

(साभार/सौजन्य से)



RJD-JDU के बाद अब BJP ने अपने MLC उम्मीदवारों का किया ऐलान

विधान परिषद के लिए भारतीय जनता पार्टी ने भी अपने उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर दी है।बीजेपी के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी संजय मयूख को एक बार फिर से पार्टी ने विधान परिषद भेजने का फैसला किया है। संजय मयूख के अलावे लालू और नीतीश के साथ राजनीति कर चुके सम्राट चौधरी भी भाजपा के पाले से अब विधान परिषद जाएंगे। सम्राट चौधरी बीजेपी में शामिल होने के बाद लगातार अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे और अब पार्टी ने उनको परिषद भेजने का फैसला किया है।

(साभार/सौजन्य से)



दिल्ली, महाराष्ट्र सहित इन राज्यों को मिली कोरोना की दवा, जानें- क्या है कीमत

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामले के बीच एक अच्छी खबर सामने आ रही है। कोरोना वायरस की जेनेरिक दवा पांच राज्‍यों को भेज दी गई है। हैदराबाद स्थित कंपनी हेटरो ने रेमडेसिवीर का जेनेरिक वर्जन कोविफोर के नाम से बनाया है। कंपनी ने 20,000 वायल की पहली खेप दिल्‍ली, महाराष्‍ट्र, गुजरात और तमिलनाडु जैसे राज्‍यों में भेजी हैं जो कोरोना से बुरी तरह प्रभावित हैं। तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद, जहां ये कंपनी है, वहां भी दवा की पहली खेप यूज होगी। हेटरो के मुताबिक, कोविफोर का 100 मिलीग्राम का वायल 5,400 रुपये में मिलेगा। कंपनी ने अगले तीन-चार हफ्तों में एक लाख वायल तैयार करने का टारगेट सेट किया है।

साभार/सौजन्य से



मानव शरीर में परमात्मा का सच्चा प्रतिनिधि

छान्दोग्य उपनिषद् का मुख्य विषय ओ३म् का उच्चारण है। उपनिषद् की कथा के अनुसार देवताओं ने जब नासिका की घ्राण शक्ति को ओ३म् का प्रतीक मानकर उसकी उपासना करने की सोची तो असुरों ने उस घ्राण शक्ति को बींध दिया।

पाप से बींध जाने के कारण घ्राण शक्ति में सुगन्ध और दुर्गन्ध दोनों को सूंघने का काम शामिल हो गया। इसके बाद देवताओं ने वाणी को ओ३म् की उपासना का प्रतीक माना तो असुरों ने उसे भी बींध दिया।


पाप से बिंधने के कारण वाणी में भी सत्य और असत्य दोनों तरह के वाक्यों का उच्चारण शामिल हो गया। इसलिए वाणी भी ईश्वर की स्तुति का माध्यम बनने के अयोग्य हो गई।

देवताओं ने बारी-बारी से चक्षु, श्रोत्र और मन को प्रतीक बनाने का प्रयास किया तो असुरों द्वारा इन सारी इन्द्रियों को बींध दिया। इसके उपरान्त देवताओं ने मुख में रहने वाले प्राण को ईश्वर की स्तुति अर्थात् ओ३म् के उच्चारण का माध्यम बनाने का प्रयास किया।

इस प्रयास में मुख वह स्थान था जहां प्राणों के द्वारा ओंकार अर्थात् ओ३म् का उच्चारण किया जाना था। मनुष्य का मुख जो कुछ भी ग्रहण करता है उसे शरीर को सौंप देता है। किसी भी वस्तु को अपने पास नहीं रखता। इस निःस्वार्थी प्रकृति के कारण ईश्वर स्तुति का स्थान मुख को बनाया गया।

ओ३म् के उच्चारण का माध्यम प्राण को बनाया गया वह दिन-रात चलता हुआ, बिना थके शरीर को जीवन प्रदान करता है। अतः प्राण, मनुष्य के जीवन के लिए परमात्मा का सच्चा प्रतिनिधि माना जा सकता है।



जानिए कैसे करे इंटरव्यू की तैयारी – best interview tips in hindi

जॉब चाहे प्राइवेट या सरकारी उसे पाने के लिए हर इंसान को जिस अंतिम चुनोती से निकलना पड़ता है वो है interview यानी साक्षात्कार. आज जमाना competition का है और इंटरव्यू के जरिये साक्षात्कारकर्ता (इन्टरव्यू लेने वाला) आपको हर जरुरी पैमाने पर जांचने का प्रयास करता है और इसी के जरिये यह देखा जाता है की एक इंसान किस तरह दुसरे से अलग और योग्य है. कई बार यह देखा गया है की नॉलेज होने  के बावजूद भी लोग अनजाने में interview के दौरान कई गलतियाँ कर बैठते है जिसके कारण उन्हें उस नौकरी से हाथ धोना पड़ता है. यह गलतियाँ या तो हम लापरवाही से करते है या तो जानकारी के आभाव में. आज हम इस पोस्ट में इन्टरव्यू के दौरान होने वाली कुछ गलतियों का जिक्र करेंगे और आपको बताएँगे की कैसे इसे सुधारा जा सकता है.

आपने एक कहावत तो सुनी ही होगी – First impression is last impression. हालाकिं इंटरव्यू में यह बात पूरी तरह से लागु नहीं होती फिर भी कुछ हद तक यह साक्षात्कारकर्ता पर आपका प्रभाव छोडती है. मनोविज्ञान में इसे Halo Effect कहा जाता है. कोई भी साक्षात्कारकर्ता सबसे पहले आपके कपडे पहनने के तरीके, आपकी चाल और आपके चहरे के भावो (facial expression) को देखता है जिसके जरिये वह आपकी पर्सनालिटी और confidence level को आंकता है. साथ ही एक अच्छी शुरुआत अभ्यार्थी के आत्मविश्वास के लिए भी जरुरी मानी जाती है. इसके लिए जरुरी है की आप इंटरव्यू वेन्‍यू पर समय से पहले पहुचे, नर्वस न हो और पॉजिटिव अप्प्रोच के साथ कमरे में एंट्री ले. साथ ही जितना कम हो सके उतनी कम accessories या jewelry पहने. इंटरव्यू पैनल के सामने बिलकुल न घबराये. यह सोचे की वह भी आपकी तरह ही एक इंसान है जिसके सामने कुछ देर के लिए आपको एक्टिंग करनी है. आपका डर अपने आप दूर हो जायेगा.

कई बार लोग जॉब को पाने के लिए अपने बायोडाटा को बड़ा चढ़ा कर पेश करते है. लेकिन ऐसा करने से interview के दौरान उल्टा असर भी पढ़ सकता है.  पूछताछ के दौरान अपने द्वारा दी गई जानकारी को सही साबित करने की कोशिश में आपकी विश्वसनीयता खतरे में पड़ सकती है और अच्छी नॉलेज और काबिलियत होने के बावजूद भी आप उपेक्षा का शिकार हो सकते है. इसलिए बायोडाटा में उतना ही लिखे जिसका जवाब आप सही तरीके से दे सकते है या फिर बायोडाटा में दी गई जानकारी के बारे में सभी जरुरी इनफार्मेशन को जुटा ले ताकि जरुरत पढने पर आप उसे सही सही साबित कर पाए.

(Sabhar/Saujany Se)



मीडिया की स्वतंत्रता सबसे बड़ी चिंता

नई दिल्ली : इसकी शुरुआत पहली बार 1993 में हुई थी। जिसका मकसद था दुनियाभर में स्वतंत्र पत्रकारिता का समर्थन करना और इसकी रक्षा करना। स्वतंत्र पत्रकारिता पर होने वाले हमलों से मीडिया और पत्रकारों को बचाने के लिए इसकी शुरुआत की गई थी। इस वर्ष 2018 में इसका मुख्य लक्ष्य मीडिया की आजादी को गारंटी देने के लिए स्वतंत्र न्यायपालिका की भूमिका को सुनिश्चित करना। साथ ही चुनाव के दौरान मीडिया की भूमिका और चुनाव में पारदर्शिता के साथ, कानून का राज स्थापित करना भी अहम लक्ष्य है। 

 वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम डे की शुरुआत 1993 में यूएन जनरल एसेंबली द्वारा की गई थी, इसका सुझाव युनेस्को की जनरल कॉफ्रेंस ने दिया था, जिसके बाद इसके सुझाव को लागू किया गया है। इस दिन नामीबिया में विंडहॉक में हुए सम्मेलन में इस बात पर जोर दिया गया था कि प्रेस की आजादी को मुख्य रूप से बहुवाद और जनसंचार की आजादी के तौर पर देखा जाना चाहिए। इसके बाद से हर वर्ष 3 मई को अंतर्राष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।

 यूनेस्को महासम्मेलन के 26वें सत्र में इससे संबंधित प्रस्ताव को स्वीकार किया गया था। गौरतलब है कि जिस तरह से पिछले कुछ समय में पत्रकारों पर निशाना साधा गया उसके बाद लगातार मीडिया की स्वतंत्रता को लेकर चिंता जाहिर की जा रही है। रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर ने 25 अप्रैल 2018 को अपनी एक रिपोर्ट जारी की जिसमे कहा गया है कि पत्रकारों पर हमले लगातार पिछले समय में बढ़े हैं। इस रिपोर्ट भारत का स्थान 138 जोकि पिछले वर्ष 136 थी। इस रिपोर्ट में पीएम मोदी की ट्रोल आर्मी पर निशाना साधते हुए कहा गया है कि पत्रकारों पर सोशल मीडिया पर हमला करते हैं और हेट स्पीच फैलाते हैं।

 
(Sabhar/Saujany Se)



  • प्रश्न- क्या इस बार बिहार विधानसभा में महागठबंधन की सरकार बनेगी ?



    0 %
    0 %
    0 %
और देखे